समस्याओं का दंश झेल रहा शांति बालिका उच्च विद्यालय, 2000 छात्राओं काे पढ़ाने के लिए मात्र सात शिक्षक

संवादसहयोगी,मोहनियां(भभुआ)।नगरमेंशिक्षामंदिरोंकाहालबेहालहै।सरकारीविद्यालयसंसाधनोंकीकमीकादंशझेलरहेहैं।अनुमंडलमुख्यालयकेएकमात्रउच्चतरमाध्यमिकविद्यालयमेंसमस्याओंकाअंबारहै।जिसेदेखनेकेबादयहीलगताहैकिजहांउच्चशिक्षाकायहहालहैतोप्राथमिकशिक्षाकातोभगवानहीमालिकहै।मोहनियांनगरपंचायतमेंरेलवेस्टेशनकेबगलअवस्थितटेनप्लसटूप्रोजेक्टशांतिबालिकाउच्चविद्यालयबाहरसेदेखनेमेंकाफीसुंदरहै।लेकिनअंदरजानेकेबादइसकीव्यवस्थाकीपोलखुलजातीहै।वर्तमानमेंइसविद्यालयमेंकरीबदोहजारछात्राएंशिक्षाग्रहणकररहीहैं।

वर्ष2020मेंविद्यालयकोटेनप्लसटूकादर्जामिलाथा।इंटरमेंछात्राओंकानामांकनभीहुआहै।लेकिनशिक्षकवभवनकेअभावमेंइनकीपढ़ाईनहींहोरहीहै।छात्राएंघरपरहीपढ़ाईकरतीहैं।इसविद्यालयकेछात्राओंकोगुणवत्तापूर्णशिक्षाकेलिएतरसनापड़ताहै।दोहजारछात्राओंकोपढ़ानेकीजिम्मेदारीमात्रसातशिक्षकोंपरहै।जबकिसरकारीतौरपर40छात्रोंपरएकशिक्षकहोनाचाहिए।यहांनवींकक्षामें729,दसवींमें745,इंटरप्रथमवर्षमें260वद्वितीयवर्षमें254छात्राओंकानामांकनहै।यहांप्रधानाध्यापकसहितमात्रसातशिक्षककार्यरतहैं।उक्तविद्यालयमेंकहनेकोतो12कमरेहैं।इसमेंचारक्षतिग्रस्तहैं।एककमरेमेंकार्यालयहै।एककमरामेंस्मार्टक्लासचलताहै।एककमरेकाप्रयोगप्रयोगशालाकेरूपमेंकियाजाताहै।ऐसेमात्रपांचकमरोंछात्राओंकेपढऩेकीव्यवस्थाहै।

सातशिक्षकोंमेंएकशिक्षकजनवरीमेंसेवानिवृत्तहोजाएंगे।इसकेबादमात्रछहशिक्षककेभरोसेछात्रोंकाभविष्यहोगा।सरकारद्वाराविद्यालयोंमेंतकनीकीशिक्षादेनेकाढोलपीटाजारहाहै।लेकिनजिनविद्यालयोंमेंकंप्यूटरहैवहांशिक्षककेअभावमेंकंप्यूटरकीपढ़ाईबंदहै।बरसातमेंविद्यालयपरिसरमेंघुटनेभरपानीलगजाताहै।पानीमेंखड़ाहोकरछात्राओंकोप्रार्थनाकरनापड़ताहै।पानीमेंभींगकरछात्राएंक्लासमेंजातीहैं।जलनिकासीकीव्यवस्थानहींहोनेकेकारणलंबेसमयसेयहसमस्याहै।विद्यालयकेबगलमेंजलजमावहै।इसकीदुर्गंधविद्यालयमेंप्रवेशकरतीहै।विद्यालयकेप्रधानाचार्यअजयकुमारङ्क्षसहसेविद्यालयकीसमस्याओंकेबारेमेंपूछागयातोउन्होंनेकहाकिसमाधानकाप्रयासकियाजारहाहै।जिलाधिकारीसहितविभागीयपदाधिकारियोंकोसमस्याओंसेअवगतकरायागयाहै।एचएमनेभीस्वीकारकियाछात्राओंकीसंख्याकेहिसाबसेविद्यालयमेंकमरेवशिक्षकोंकीभारीकमीहै।जिससेशिक्षणकार्यप्रभावितहोताहै।