संक्रमण मुक्त हुए मरीजों में बनी एंटीबॉडी मजबूत, यह जल्द नहीं घटती: अध्ययन

न्यूयॉर्क,29अक्टूबर(भाषा)कोविड-19केहल्केऔरमध्यमलक्षणोंवालेज्यादातरमरीजोंकेइसरोगसेउबरनेकेसाथउनकेशरीरमेंमजबूतएंटीबॉडीकेरूपमेंएकरक्षाकवचबनजाताहै,जोकमसेकमपांचमहीनेतककायमरहताहै।एकनयेअध्ययनमेंयहदावाकियागयाहै।अध्ययनकेमुताबिकशरीरकीइसप्रतिरोधकप्रतिक्रियासेकोरोनावायरससेदोबारासंक्रमितहोनेकाखतराकाफीहदतककमहोजाताहै।जर्नलऑफसाइंसमेंप्रकाशितएकअनुसंधानपत्रकेमुताबिकएंटीबॉडीकीप्रतिक्रियाकासबंधशरीरद्वारासार्स-सीओवी-2वायरसकोनिष्प्रभावीकरनेसेहै,जिससेसंक्रमणहोताहै।अमेरिकास्थितमाउंटसिनाईहॉस्पिटलमेंकार्यरतऔरअनुसंधानपत्रकेवरिष्ठलेखकफ्लोरियनक्रेम्मरनेकहा,‘‘हालांकि,कुछखबरेंआईथीकिवायरससेसंक्रमणकीप्रतिक्रियामेंविकसितएंटीबॉडीजल्दसमाप्तहोजातीहै,लेकिनहमनेअपनेअध्ययनमेंइसकेठीकउलटपाया।हमनेपायाकिहल्केयामध्यमदर्जेकेलक्षणवाले90प्रतिशतकोविड-19मरीजोंमेंबनीएंटीबॉडीमहीनोंतकवायरसकोनिष्प्रभावीरखनेमेंमजबूतीसेकामकरतीहै।’’इसनिष्कर्षपरपहुंचनेकेलिएवैज्ञानिकोंनेसंक्रमणसेठीकहुएलोगोंकीइंजाइमलिंक्डइम्युनोसोब्रेंटएस्से(एलिसा)नामकएंटीबॉडीजांचकी,ताकिपतालगायाजासकेकिकोशिकापरवायरसकाआक्रमणहोनेपरबननेवालेइसप्रोटीनकास्तरक्याहै।अनुसंधानकर्ताओंने30,082नमूनोंकीजांचकरनेकेबादपायाकिअधिकतरलोगोंमेंएंटीबॉडीमध्यमसेउच्चस्तरपरमौजूदहै,जोवायरसकोनिष्प्रभावीकरसकतेहैं।वैज्ञानिकोंनेयहभीपायाकिपहलीजांचकेमुकाबलेदूसरीजांचकेदौरानएंटीबॉडीकेस्तरमेंहल्कीसीकमीआईऔरतीसरीतथाआखिरीजांचमेंइसमेंऔरकमीआई।अनुसंधानकर्ताओंनेकहाकियहसंकेतकरताहैकिएंटीबॉडीकमसेकमपांचमहीनेतकबनीरहतीहै।