सपनों की सुरंग

कईवर्षोसेदेखागयारोहतांगसुरंगकासपनाअबहकीकतबननेजारहाहै।रविवारकोकेंद्रीयरक्षामंत्रीनिर्मलासीतारमणनेभीदौराकरनेकेबादयहएलानकियाहैकियहसुरंगजल्दहीदेशकोसमर्पितकीजाएगी।इसकार्यकासंपूर्णहोनानसिर्फजनजातीयक्षेत्रोंकेलिएवरदानहैबल्किभारतकेलिएभीइससुरंगकारणनीतिकमहत्वहै।वास्तवमेंजनजातीयक्षेत्रोंकीपीड़ाकोसमझनाइसलिएआवश्यकहैक्योंकिवहांभौगोलिकस्थितियांअलगहोतीहैं..जनजीवनकीपरीक्षालेतीहैं।

यहसुरंगकितनीमहत्वपूर्णहै,इसकासारयहींसेसमझाजासकताहैकिउसकठिनमार्गपर48किलोमीटरकीदूरीकमहोजाएगी।लाहुलजानेवालेऔरवहांसेआनेवालोंकारोहतांगर्देकेअप्रत्याशिततेवरोंसेजूझनानहींपड़ेगा।रोहतांगएकतरफरहजाएगा।रणनीतिकमहत्वयहहैकिकारगिलयालेहकेलिएयहवैकल्पिकमार्गहै।कारगिलसंघर्षकेदौरानरसदइसरास्तेसेभीपहुंचाईगईथी।किसीभीविकासकार्यकेलिएश्रेयलेनेवालोंकीकमीनहींहोतीलेकिनरोहतांगसुरंगकेसंबंधमेंयहअच्छापक्षहैकिसपनाकिसीनेदेखा,नींवकिसीनेरखीऔरकामकिसीकेकार्यकालमेंपूराहोरहाहै।जाहिरहै,मौजूदाकेंद्रसरकारकेप्रयासइसलिएदिखाईदेरहेहैंक्योंकिइसकार्यनेइसीकार्यकालमेंगतिपकड़ी।इसविकासकार्यकाहोनावस्तुत:दोसभ्यताओंऔरसंस्कृतियोंकामिलनाभीहै।

पूर्वप्रधानमंत्रीइंदिरागांधीकेकार्यकालमेंइसकीपरिकल्पनाहुईजबकिअटलबिहारीवाजपेयीकेकार्यकालमेंइसेगतिदीगईऔरअबनरेंद्रमोदीकेकार्यकालमेंयहसाकारहोगी।सबकाअपनेअपनेस्तरसेयोगदानहैजोइतनामहत्वपूर्णहैकिअबजनजातीयक्षेत्रकेविकासकेरास्तेभीखुलेंगे।इससेजीवनकेकईपक्षोंकीजटिलताआसानहोगीऔरयहविकासकेपथपरपूरीताकतऔररफ्तारकेसाथअग्रसरहोगा।यहसुरंगइसलिएभीआश्वस्तकरतीहैक्योंकिचीननेकईतरहकाविकासतिब्बतमेंकियाहै।खासतौरपरउसनेरेलनेटवर्कभीमजबूतकियाहै।भारतकेलिएयहसुरंगबनानावैसेभीआवश्यकथा।अबउम्मीदकीजानीचाहिएकिलेहतकइसीमार्गसेरेलपटरीबिछानेकेसपनेकोभीऐसेहीप्रयासकरसाकारकियाजाएगा।हालांकियहपरियोजनाभीपहलेसेदेशकेसरोकारोंमेंशामिलहैलेकिनइसपरकार्यभीशिद्दतकेसाथहोतोविकासकावहनयाआयामहोगा।

(स्थानीयसंपादकीयहिमाचलप्रदेश)