सर्दी गुजरी, पूरी नहीं हो सकी रजाई व गद्दे की खरीद

जेएनएन,बदायूं:जिलेमें18कस्तूरबागांधीआवासीयबालिकाविद्यालयसंचालितहैं।इनमेंपढ़नेवालीछात्राओंकोसर्दीमेंरजाई,गद्देवचादरमुहैयाकराएजानेथे।इसकेलिएअगस्तमाहमेंशासनसे13लाख50हजाररुपयेकाबजटभीजारीहोगया।फिरपूरीसर्दीगुजरगई।लेकिनअभीतकइनकीखरीदप्रक्रियापूरीनहींहोसकीहै।

पिछलेजिलासमन्वयकफाइलदबाएरहे।अबदिसंबरसेनएजिलासमन्वयककोफाइलमिलनेकेबादभीबाविद्यालयोंकोसामाननहींमिलपायाहै।विभागकेअनुसारएकसप्ताहमेंसामानउपलब्धकरादियाजाएगा।कोरोनामहामारीकीवजहसेबाविद्यालयोंमेंपढ़ाईप्रभावितचलरहीहै।छात्राएंविद्यालयनहींआरहीहैं।फिरभीशासननेहरविद्यालयमेंरजाई,गद्दे,चादरखरीदनेकेलिए75हजाररुपयेकेहिसाबसेपूरेजिलेकेबाविद्यालयकेलिएबजटजारीकिया।तकरीबनचारमाहतोप्रक्रियाशुरूहीनहींहुई।शासनसेजिलासमन्वयककीतैनातीहुईतोउन्होंनेप्रक्रियाशुरूकी।पहलेदोबारविज्ञप्तिजारीहोनेकेबादभीमानककेअनुसारसैंपलप्राप्तनहींमिलसके।जिलाधिकारीकीअनुमतिकेबादतीसरीबारफिरसेविज्ञप्तिजारीहुई।टेंडरकरकेएकफर्मकोजिम्मेदारीदीगईहै।विभागकेअनुसारसामानमिलनेकेबादविद्यालयमेंसामानरखाजाएगा।बालिकाशिक्षाकेजिलासमन्वयकप्रशांतगंगवारनेबतायाकिकोरोनामहामारीकीवजहसेकक्षाओंकासंचालननहींहुआ।शासनसेप्राप्तबजटसेसामानखरीदनेकोटेंडरकियाजाचुकाहै।

खराबनहींहोगासामान

विभागीयअफसरोंकादावाहैकिरजाई,गद्देवचादरकीखरीदारीकाबजटतीनवर्षकेलिएजारीकियाजाताहै।सामानखराबनहींहोगा।