सतर्कता ही इस जानलेवा बीमारी से बचाव का उपाय, कोरोना काल में अधिक सावधानी की जरूरत

जेएनएन,गया।पहलीदिसंबरयानिआजविश्वएड्सदिवसहै।दुनियाभरमेंइसलाइलाजबीमारीकेप्रतिजागरूकताबढ़ानेवालादिवसहै।क्योंकिइसबीमारीनेअबतकदुनियाकेहरेकदेशतकअपनीपहुंचबनालीहै।गयाजिलेमेंभीहरसालएचआईवी(एक्वायर्डइम्यूनोडिफिसिएंसीसिंड्रोम)केनए-नएमरीजमिलरहेहैं।जिलास्थितआइसीटीसीसेंटरकेअलावासभीपीएचसी,सीएससी,अनुमंडलीयअस्पतालमेंएचआईवीजांचकीमुफ्तसुविधाउपलब्धहै।

प्रभावतीअस्‍पतालमें9वजेपीएनमें6मरीजोंमेंहुईएचआईवीकीपुष्टि

इससालप्रभावतीअस्पतालमेंअप्रैलसेअक्टूबरतक6166मरीजकीएचआइवीजांचकीगई।इनमेंसे9मरीजमेंएचआईवीसंक्रमणकीपुष्टिहुई।इसीतरहसेजेपीएनअस्पतालमेंजनवरीसेनवम्बरतक4102लोगोंकीएचआईवीकोलेकरकाउंसलिंगकीगई।इनमेंसे3922कीजांचकीगई।जांचमें5मरीजमेंएचआईवीसंक्रमणकीपुष्टिहुई।हालांकिकोरोनाकालमेंपिछलेसालकीतुलनामेंइसबारएचआईवीकीजांचकाफीहदतकप्रभावितहुई।लेकिनगर्भवतीकीरूटिनजांचकोलेकरउसीतरहकीतत्परतारही।

संक्रमितगर्भवतीसेउसकेबच्चेकोनहींहोबीमारीइसकेलिएअहानाकार्यक्रम-जिलेमेंहिन्दुस्तानलेटेस्टफैमलीप्लालिंगप्रमोशनट्रस्टकेप्रोजेक्टअफसरदिनेशप्रसादनेबतायाकिगर्भवतीकोलेकरअहानाकार्यक्रमचलायाजारहाहै।जिसमेंएचआईवीसंक्रमितगर्भवतीमहिलाकेकल्याणकोलेकरकार्यक्रमकिएजातेहैं।एचआईवीसंक्रमितमहिलाजोगर्भवतीहोजातीहैंउनकेशिशुकोयहबीमारीनहींहोइसेलेकरजरूरीउपायबताएजातेहैं।दवाजांचआदिकीसुविधादीजातीहै।गयाजिलेमेंसाल2015-16सेयहअहानाकार्यक्रमकियाजारहाहै।जिलेमेंअभीतक76गर्भवतीसंक्रमितहैं।इससाल27गर्भवतीकीजांचमेंसंक्रमितहोनेकीपुष्टिहुई।इनगर्भवतीमें2नवजातबच्चेजोजन्मलिएउनकेएंटीबॉडीकीजांचमेंभीएचआईवीसंक्रमणहोनेकीबातसामनेआई।जिलेमेंइससाल30हजार109गर्भवतीकीएचआईवीजांचकीगई।इसबीमारीसेबचनेकेलिएहरउम्रकेलोगोंकोजागरूकरहनाचाहिए।

एचआइवीकीअगलीअवस्थाहोतीहैएड्स

एचआइवीकेकारणएड्सहोताहै।जबसमयरहतेएचआइवीकाइलाजनहींकियाजाताहैतोऐसीस्थितिमेंएड्सहोजाताहै।यहऐसीस्थितिहैजोसंक्रमणसेलड़नेकीप्राकृतिकरोगप्रतिरोधकक्षमताकमजोरहोजातीहै।इम्यूनिटीलगातारकमजोरहोतीजातीहै।असुरक्षितयौनसंबंध,संक्रमितरक्तचढ़ाने,संक्रमितसूई-निडिलकेइस्तेमालसे,गर्भवतीसेगर्भस्थशिशुकोयहखतरनाकएचआईवीहोनेकीसंभावनारहतीहै।

कोरोनाकालमेंएचआइवीकोलेकरबरतेंऔरअधिकसतर्कता:डॉ.भरतभूषण

मगधमेडिकलअस्पतालकेसीनियरचिकित्सकडॉ.भरतभूषणकोरोनाकालमेंएचआईवीऔरएडसजैसीबीमारीकेप्रतिबहुतअधिकजागरूकहोनेकीसलाहदेतेहैं।वहबतातेहैंकिएचआइवीमेंशरीरकीइम्यूनिटीलगातारघटतीजातीहै।वहींकोरोनाकावायरसकमजोरइम्यूनिटीवालोंकोहीअपनीचपेटमेंलेताहै।वहबतातेहैंकिएचआईवीपॉजिटिवमरीज10से15सालकेबादएड्सकीस्थितिमेंपहुंचजातेहैं।गुप्तरोगसेपरेशानमरीजोंकोसमयरहतेएचआईवीकीजांचकरानेकीसलाहदेतेहैं।

एंटीनेटलचेकअपमेंहरेकगर्भवतीमहिलाकीहोतीहैएचआइवीजांच:डॉ.नाजनीन

जेपीएनअस्पतालकीगायनोकोलॉजीडॉ.सहलानाजनीनबतातीहैंकिसभीसरकारीअस्पतालोंमेंएंटीनेटलचेकअपकेदौरानएचआईवीकीरूटिनचेकअपहोतीहै।जिनकीभीरिपोर्टपॉजिटिवआतीहैउन्हेंप्रसवकेसमयविशेषदवादीजातीहै।ताकिगर्भस्थशिशुसुरक्षितजन्मलेसकें।वहसरकारीअस्पतालमेंसुरक्षितप्रसववऑपरेशनकेलिएअलगऑपरेशनथियेटररखनेकीव्यवस्थारहनेपरजोरदेतीहैं।