स्टार्टअप से जुड़े छात्रों पर उपस्थिति के मानक लागू नहीं, पढ़िए पूरी खबर

देहरादून,अशोककेडियाल।इंजीनियरिंगकेछात्र-छात्राओंमेंउद्यमशीलताविकसितकरनेकेलिएऑलइंडियाकाउंसिलऑफटेक्निकलएजुकेशन(एआइसीटीई)नेखासपहलकीहै।यदिकोईछात्र-छात्राउद्यमितासेजुड़ाहैतोनिर्धारितउपस्थितिकमहोनेकेबावजूदवहपरीक्षामेंबैठसकेगा।यहव्यवस्थाइंजीनियरिंगकेदूसरेछात्र-छात्राओंपरलागूनहींहोगी,उनकेलिए75फीसदउपस्थितिअनिवार्यरहेगी।ऑलइंडियाकाउंसिलऑफटेक्निकलएजुकेशननेनेशनलरिसर्चएंडइनोवेशनपॉलिसीतैयारकीहै।इसकेतहतहीइंजीनियरिंगकॉलेजोंवटेक्निकलइंस्टीट्यूशन्सकोदिशा-निर्देशजारीकिएगएहैकिउद्यमिताकेतहतस्टार्टअपशुरूकरनेवालेछात्र-छात्राकेलिएउपस्थितिकमहोनेपरभीउन्हेंपरीक्षामेंबैठनेदियाजाए।एआइसीटीईपिछलेकुछसमयसेशोधवनवाचारकोबढ़ावादेनेकेलिएकामकररहाहै।

उत्तराखंडकेराजकीयवनिजीकरीबदो200कॉलेजोंमेंइंजीनियरिंगकीपढ़ाईकेसाथस्टार्टअपसेजुड़ेछात्र-छात्राओंमेंअबतकएकडरथाकियदिउनकीउपस्थितिकमआईतोवहसेमेस्टरपरीक्षानहींदेपाएंगे।याफिरफाइनकाभुगतानकरनेकेबादहीऐसेछात्रपरीक्षामेंबैठपाएंगे,लेकिनअबउन्हेंपरेशानहोनेकीजरूरतनहींहै।ऑलइंडियाकाउंसिलऑफटेक्निकलएजुकेशन(एआइसीटीई)नेइंजीनियरिंगकॉलेजोंऔरटेक्निकलइंस्टीट्यूट्सकोदिएनिर्देशमेंकहाहैकिउपस्थितिकमहोनेकेबादभीवहउद्यमितासेजुड़ेछात्र-छात्राओंकोपरीक्षामेंबैठनेदें।इतनाहीनहीं,यदिउद्यमितासेजुड़ेछात्र-छात्राएंसेमेस्टरकेबीचमेंकोईस्टार्टअपयाकोईदूसराकामकरनाचाहतेहैंतोवहआसानीसेकरसकतेहैं।ऑलइंडियाकाउंसिलऑफटेक्निकलएजुकेशननेछात्रोंकोऐसाकरनेकीभीअनुमतिदेदीहै।बतादेंकियहनिर्णयमानवसंसाधनविकासमंत्रालयकेटेक्निकलएजुकेशनरेग्युलेटरनेलियाहै।इसकेपीछेउद्देश्यहैकिअधिकसंख्यामेंछात्र-छात्राएंशोधवनवाचारकेलिएप्रोत्साहितहोसकें।

राज्यमेंस्टार्टअपफिनालेकीतैयारी

उत्तराखंडसरकारशोधएवंनवाचारकोबढ़ावादेनेकेलिएगंभीरतासेआगेबढ़रहीहै।इसकेलिएसरकारस्टार्टअपफिनालेआयोजितकरनेजारहीहै।स्टार्टअपयात्राकीजिम्मेदारीउद्योगविभागकोसौंपीगईहै।इसकेपहलेचरणमेंप्रदेशकेसभीजिलोंमें16स्टार्टअपबूटकैंपकेजरियेयुवाओंकीखोजकीगईजोस्टार्टअपकेइच्छुकहैं।अभीतक75स्टार्टअपफाइनलकिएजाचुकेहैं।स्टार्टअपफिनालेयूनिवर्सिटीऑफपेट्रोलियमएंडएनर्जीस्टडीज(यूपीईएस)मेंआयोजितकियाजाएगा।जिसमें10विजेतास्टार्टअपकोसरकार50-50हजाररुपयेपुरस्कारदेगी।

आइआइटी-आइआइएमसेभीस्टार्टअप

राज्यसरकारकेस्टार्टअपफिनालेकेलिएप्रतिष्ठितसंस्थानआइआइटीरुड़कीवआइआइएमकाशीपुरसेछात्रस्टार्टअपबूटकैंपकेबादसिलेक्टहुएहैं।इसकेअलावानिजीविवि,इंजीनियरिंगवराजकीयमहाविद्यालयोंसेछात्रस्टार्टअपमेंअपनाप्रदर्शनकरेंगे।सरकारसौकरोड़रुपयेतककेस्टार्टअपयोजनामेंअपनासहयोगदेगी।

यूटीयूकेराजकीयइंजीनियरिंगकॉलेज

-गोविंदबल्लभपंतइंजीनियरिंगकॉलेज,पौड़ी

-कॉलेजऑफटेक्नोलॉजीपंतनगर

-विपिनत्रिपाठीआइटीकॉलेज,द्वाराहाट

-डॉ.एपीजेअब्दुलकलामआइटी,टनकपुर

-टीएचडीसीआइएचईटीटिहरीगढ़वाल

-नन्हीपरीएसआइटी,पिथौरागढ़

-इंस्टीट्यूटऑफटेक्नोलॉजी,गोपेश्वर

-महिलाप्रौद्योगिकीसंस्थान,देहरादून

प्रो.एनएसचौधरी(कुलपति,यूटीयू)काकहनाहैकिइंजीनियरिंगकॉलेजोंमेंशोधवनवाचारकोबढ़ावादेनेकेलिएएआइसीटीईकीपहलस्वागतयोग्यहै।इसकापालनकियाजाएगा।राज्यसरकारवयूटीयूसेसंबद्धकोईभीइंजीनियरिंगकॉलेजकाछात्रयदिस्टार्टअपमेंपंजीकृतहैतोउसेउपस्थितिमेंछूटदीजाएगी।हालांकिअभीएआइसीटीईसेलिखितआदेशप्राप्तनहींहुएहैं।

47हजारयुवाओंकोकौशलविकासप्रशिक्षण

स्वरोजगारकेमद्देनजरयुवाओंकेकौशलविकासकोलेकरसरकारगंभीरतासेकदमबढ़ारहीहै।इसवर्षप्रधानमंत्रीकौशलविकासयोजनामें32हजारऔरविश्वबैंकपोषितयोजनामें15हजारयुवाओंकोकौशलविकासप्रशिक्षणदियाजाएगा।प्रशिक्षणकेलिएसंस्थाओंकाचयनकरलियागयाहै।इसकेअलावाराज्यकौशलविकासयोजनामेंकुछप्रावधानोंमेंबदलावकरनेकीभीतैयारीहै।कौशलविकासमंत्रीडॉ.हरकसिंहरावतनेबुधवारकोकौशलविकासकीसमीक्षाबैठककेबादयहजानकारीदी।इससेपहलेउन्होंनेसर्वेचौकस्थितकौशलविकासमुख्यालयऔरआइटीआइकाऔचकनिरीक्षणभीकिया।

कौशलविकासमुख्यालयमेंहुईसमीक्षाबैठककेबादकौशलविकासमंत्रीडॉ.रावतनेबतायाकिप्रधानमंत्रीकौशलविकासयोजनाकेतहतप्रशिक्षणकेलिए35संस्थाएंचयनितकीगईहैं।कुछप्रशिक्षणकेंद्रोंकाकेंद्रकीटीमनिरीक्षणकरचुकीहै,जबकिबाकीकाभीजल्दनिरीक्षणकरनेकाआग्रहकियाजारहाहै।उन्होंनेबतायाकिविश्वबैंककीमददसेचलनेवालीकौशलविकासयोजनाकेतहतदिएजानेवालेप्रशिक्षणकोभीसंस्थाएंचयनितकरलीगईहैं।

यहभीपढ़ें:नर्सिंगऔरपैरामेडिकलमेंदाखिलेकाइंतजारखत्म,जानिएक्याहैशेड्यूल

डॉ.रावतनेकौशलविकासयोजनाकेमानकोंमेंबदलावपरभीविचारचलरहाहै।खासकर,राज्यकौशलविकासयोजनामेंप्रशिक्षणकेलिएस्थानीयसंस्थाओंकोमहत्वदेनेपरबलदियागयाहै।इसबारेमेंमुख्यमंत्रीकोफाइलभेजदीगईहै।इसमेंसुझावदियागयाहैकिप्रशिक्षणकेलिएनियुक्तकीजानीवालीसंस्थाकेदोकरोड़केटर्नओवरकीशर्तमेंशिथिलतादीजाए।इसीप्रकारप्रधानमंत्रीकौशलविकासयोजनाकेमानकोंमेंभीराज्यकीविषमपरिस्थितियोंकोध्यानमेंरखतेहुएकुछबदलावकाआग्रहकियागयाहै।

यहभीपढ़ें:शैलेशमटियानीपुरस्कारोंकोलेकरअसमंजसदूर,मंत्रीकीलगीमुहर

इससेपहले,डॉ.रावतनेकौशलविकासमुख्यालयकाऔचकनिरीक्षणकरव्यवस्थाओंकीजानकारीली।इसकेबादवहआइटीआइगएऔरनिरीक्षणकरवहांचलरहेप्रशिक्षणकाजायजालिया।उन्होंनेप्रशिक्षणकार्यपरसंतोषजताया।

यहभीपढ़ें: आजतकनहींआयाडीबीएसपीजीकॉलेजके251छात्रोंकारिजल्ट