टेम्पो चलाना छोड़ शराब के धंधे में आया था 20 साल का शेखर; 13 लाख की गाड़ी खरीदी, बनवा रहा था 5 मंजिला मकान

पटनामेंएकयुवककीगोलीमारकरहत्याकरदीगईहै।गंभीरहालतमेंउसेहॉस्पिटललेजायागयाजहांइलाजकेदौरानउसनेदमतोड़दिया।उसेएकगोलीगलेमेंऔरदूसरीकमरमेंलगीथी।मामलाबुद्धाकॉलोनीथानाकेतहतदुजराइलाकेकाहै।घटनाबुद्धाकॉलोनीथानासेचंदकदमकीदूरीपरहुईहै।मृतकयुवककानामशेखरराजपूतथा।उसकीउम्र20सालकीथी।पहलेवहटेम्पोचलाताथा,अबशराबबेचनेकेधंधेमेंलगाथा।एकसप्ताहपहलेहीउसने13लाखकीकारखरीदीथीऔरदोमंजिलेमकानकोपांचमंजिलाबनवारहाथा।

इसकांडकोअंजामदेनेमेंबदरीवविजयकानामसामनेआयाहै।इनदोनोंसेशेखरकाशराबकोलेकरविवादचलरहाथा।शेखरवबदरीशराबबेचनेकाधंधाकरतेहैंऔरएक-दूसरेपरपुलिससेमुखबिरीकरनेकोलेकरआपसमेंगुस्सेमेंथे।दुजरापेट्रोलपंपकेसामनेइसीविवादकोलेकरसोमवारकीशामशराबविक्रेतावपड़ोसीनेशेखरकोगोलीमारदी।

महंगीकारखरीदनेकेबादशुरूहुआविवाद

स्थानीयलोगोंकाकहनाहैकिशेखरकीतरक्कीकोदेखकरबदरीवविजयजलनेलगेथे।महंगीकारखरीदनेकेबादहीदोनोंकेबीचविवादशुरूहोगयाथा।शेखरतीनभाइयोंमेंदूसरेनंबरपरहै।उसकासबसेबड़ाभाईसोनूहैऔरछोटेकानामबंटीहै।पिताप्रभुकीमृत्युआठमहीनेपहलेहोगयीथी।

परिवारऔरस्थानीयलोगोंकेमुताबिक,रविवारकीरातहीशेखरकेचचेरेभाईरंजीतकोउत्पादविभागकीटीमनेपकड़ाथा,लेकिनउसकीसंलिप्ततानहींपायेजानेपरछोड़दियाथा।इसकेबादसेशेखरलगातारबदरीऔरउसकेभाईविजयकोखोजरहाथा।चाचासत्यनारायणनेबतायाकिगोलीबदरीवविजयनेमारीहैऔरइसकीपूरीसेटिंगमेंबलि,मिट्ठु,कादरखान,बालाभीशामिलहैंं।बहनरौशनीनेबतायाकिशेखरअपनेघरपरथाऔरबदरीउसेबुलानेकेलिएआयाथा।इसकेबादवहबुलाकरलेगयाऔरकुछदूरीपरहीलेजाकरदोगोलीमारदी।

इससंबंधमेंएएसपीलॉएंडऑर्डरस्वर्णप्रभातनेबतायाकिमामलेकीजांचकीजारहीहै।परिवारनेकुछलोगोंकेनामोंकीजानकारीदीहै,पकड़नेकेलिएघरपरछापेमारीकीगयीहै।