उत्तर भारत में सबसे कम शराबी प्रदेश में होती है जम्मू-कश्मीर की गिनती, मात्र 9 प्रतिशत लोग ही पीते हैं शराब

जम्मू, ललितकुमार:शराबकेकारोबारकोलेकरजम्मू-कश्मीरमेंपिछलेदोसालोंसेकाफीहोहल्लामचाहुआहैलेकिनइसकेंद्रशासितप्रदेशमेंशराबपीनेवालोंकीसंख्यादेशकेअन्यराज्योंकीतुलनामेंकाफीकमहै।जम्मू-कश्मीरकीकुलजनसंख्याकेमात्र9प्रतिशतलोगहीशराबकासेवनकरतेहैं।

उत्तरभारतमेंजम्मू-कश्मीरसबसेनिचलेपायदानपरहै।शराबपीनेवालेलोगोंकीसंख्याकेआधारपरअगरदेशकेपहलेदसराज्यचुनेजाएतोजम्मू-कश्मीरकाउसमेंकहींनामनहींहै।देशमेंसबसेअधिकशराबपीनेवालेलोगअरूणाचलप्रदेशमेंहैजहां52.7प्रतिशतपुरुषव24.2प्रतिशतमहिलाएंशराबपीतीहै।जम्मू-कश्मीरमेंमात्र8.8प्रतिशतपुरुषव0.2प्रतिशतमहिलाएंहीशराबकासेवनकरतीहै।

यहताजासर्वेनेशनलफेमिलीहेल्थनेकियाहै।एजेंसीनेराष्ट्रीयस्तरपरयहसर्वेकियाहैजिसमेंप्रदेशकोलेकरशराबपीनेवालोंकेआंकड़ेसामनेआएहैजोकाफीसुखदहै।जम्मू-कश्मीरमेंअगरशराबकीबिक्रीकीबातकरेंतोवित्तीयवर्ष2020-21में77887बाेतलोंकीबिक्रीहुई।इसमेंसबसेज्यादास्थानीयस्तरपरतैयारहोनेवालीदेसीशराबबिकी।

आबकारीविभागकेआंकड़ोंकेअनुसारवित्तीयवर्ष2020-21मेंभारतनिर्मित122.57लाखशराबकीबोतलोंकीबिक्रीहुईजबकि225.70लाखदेसीशराबकीबाेतलेंबिकीऔरइसअवधिकेदौरानप्रदेशमें64.58लाखबीयरकीबाेतलोंकीबिक्रीहुई।अगरबातराजस्वकीकरेंतोवित्तीयवर्ष2020-21मेंविभागको135381.20लाखरुपयेकीआदमनीहुई।

देशमेंसबसेज्यादाशराबपीनेवालेटॉप-10राज्य

अरूणाचलप्रदेश:

अंडमाननिकोबार: