उत्तर प्रदेश में खत्म होंगे विभागों में वर्षों से लागू रहे 675 गैरजरूरी कानून, सीएम कार्यालय करेगा मानीटरिंग

लखनऊ[राज्यब्यूरो]।उत्तरप्रदेशकेकरीबदोदर्जनविभागोंमें675गैरजरूरीकानूनवर्षोंसेलागूरहेहैं,अबउन्हेंखत्मकिएजाएगा।संबंधितविभागोंकोलंबितप्रकरणोंकासमयबद्धनिस्तारणकरनाहोगा।मुख्यमंत्रीकार्यालयसमाधानकेलिएचलरहीकार्यवाहीकीमानीटरिंगकरेगा।मुख्यसचिवकोनियमितसमीक्षाकरनेकानिर्देशदियागयाहै।

मुख्यमंत्रीयोगीआदित्यनाथकेसमक्षसोमवारको'रिव्युऑफमिनिमाइजिंगरेगुलेटरीकॉम्प्लायन्सेजबर्डेन'विषयकप्रस्तुतीकरणकियागया।सीएमयोगीनेकहाकिसरकार'ईजऑफडूईंगबिजनेस'व'ईजऑफलिविंग'कोपूरीतरहसेलागूकरनाचाहतीहै,ताकिप्रदेशमेंऔद्योगिकगतिविधियांतेजीसेचलेंऔरनागरिकोंकोबेहतरसुविधाएंमिलसकें।बोले,प्रदेशकेविकासमेंऔद्योगिकगतिविधियोंकाविशेषयोगदानहै।उससेबड़ेपैमानेपररोजगारसृजितहोताहै।गैरजरूरीकानूनोंसेसंबंधितसभीविभागलंबितप्रकरणोंकासमाधानतयसमयमेंकरदें।जिनकानूनोंकोसमाप्तकियाजानाहै,उनकेसंबंधमेंतेजीसेकार्यवाहीकरकेउन्हेंखत्मकरायाजाए।

अपरमुख्यसचिवअवस्थापनाएवंऔद्योगिकविकासअरविंदकुमारनेबतायाकिइसकीपहलकेंद्रसरकारनेसितंबर,2020मेंकीथी,ताकिनिर्धारितमापदंडोंपरगैरजरूरीकानूनकमहोसकें।इसकेदोचरणहैं।पहला31मार्चमेंलागूहुआ,जबकिदूसराचरण15अगस्तसेलागूहोगा।उन्होंनेबतायाकिदोनोंचरणोंकेतहत675कॉम्प्लायन्सेजबर्डेन(गैरजरूरीकानून)कोचिन्हितकियागयाहै।इनविभागोंमेंश्रम,आबकारी,ऊर्जा,वन,रेरा,पर्यावरण,खाद्यएवंरसद,प्राथमिकशिक्षा,पंचायतीराज,उच्चशिक्षा,हैंडलूमववस्त्रोद्योग,गृह,चिकित्साशिक्षा,राजस्व,आवास,मत्स्य,सिंचाईवजलसंसाधन,तकनीकीशिक्षा,परिवहनएवंनगरीयविकासशामिलहैं।

इसमौकेपरमुख्यसचिवआरकेतिवारी,कृषिउत्पादनआयुक्तआलोकसिन्हा,अपरमुख्यसचिवगृहअवनीशकुमारअवस्थी,अपरमुख्यसचिवएमएसएमईएवंसूचनानवनीतसहगल,अपरमुख्यसचिवग्राम्यविकासएवंपंचायतीराजमनोजकुमारसिंह,अपरमुख्यसचिवउद्यानएवंखाद्यप्रसंस्करणमनोजसिंह,अपरमुख्यसचिवउच्चशिक्षामोनिकाएसगर्ग,अपरमुख्यसचिववाणिज्यकरएवंअवस्थापनाएवंऔद्योगिकविकासआयुक्तसंजीवमित्तल,अपरमुख्यसचिवनगरविकासडा.रजनीशदुबेवअन्यवरिष्ठअधिकारीमौजूदथे।