विद्यालय में संस्कृत का पेपर नही पहुंचा, बच्चे इंतजार कर लौटे

सहारनपुर,टीमजागरण।परिषदीयविद्यालयोंमेंवार्षिकपरीक्षाशुरूहोगईहैं।लेकिनसमयपरपेपरविद्यालयमेंनहीआरहेहैं,जिससेकुछविद्यालयोंकेदूसरीपालीकेबच्चेपेपरकीबाटजोहतेरहे।लेकिनपेपरविद्यालयनहींपहुंचा।वहींकुछविद्यालयोंमेंएकदिनपहलेपेपरपहुंचगएथे।कुछविद्यालयमेंपुरानीव्यवस्थाकेपैटर्नकेअनुसारब्लैकबोर्डपरभीपेपरकरवानेकीबातसामनेआईहै।

ग्रामपीरमाजराकेउच्चप्राथमिकविद्यालयमेंदूसरीपालीमेंसंस्कृतकापेपरतीनबजेतकनहीपहुंचा।प्रधानअध्यापकआनन्दगुप्तानेबतायाकिपहलीपारीकापेपरहुआहै।लेकिनदूसरीपालीका3बजेतकपेपरनआनेसेनहींहोपाया।ग्रामखानपुरअफगानकेअजीतसिंहनेभीपेपरनहीआनेकीकहीहै,जिससेबच्चेपेपरकीबाटजोहतेरहे।लेकिनपेपरनआनेसेवहनिराशहोकरबिनापेपरदिएहीनिराशहोकरघरलौटगए।ग्रामझाड़वनमेंभीपेपरएकदिनपहलेहीपहुंचगयाथा।झाड़वनकेप्रधानअध्यापकमेनपालसिंहवग्रामखंडलानाकेप्रधानअध्यापकअब्दुलरहमाननेबतायाकिहमारेयहांपेपरएकदिनपहलेहीआगयाथा।हमारेविद्यालयइंग्लिशमीडियमहैं।ऐसेहीमहंगी,बीनपुरआदिबहुतविद्यालयहैं,जहांपेपरनहींपहुंचा।कुछविद्यालयोंमेंब्लैकबोर्डपरहीपेपरकरवानेकीजानकारीमिलीहै।

-बीईओशिवमगुप्तानेबतायाहैकिपेपरनपहुंचनेकीबातमेरेसंज्ञानमेंनहींहै।जांचकराईजाएगी।ब्लैकबोर्डपरप्रश्नलिखकरपरीक्षाकरानेकेसवालकाजवाबबीईओनेनहींदिया।