विशिष्ट ज्ञान के लिए पुस्तकालय जरूरी : मंत्री

दुमका:कल्याणमंत्रीडॉ.लुईसमरांडीनेशुक्रवारकोएकलव्यमॉडलआवासीयबालिकाविद्यालयकाठीजोरियाकेनएपुस्तकालयकाफीताकाटकरउद्घाटनकिया।स्वच्छतापखवाड़ाकार्यक्रमकेसमापनपरमंत्रीनेविद्यालयमेंआमकापौधाभीलगाया।मंत्रीनेकहाकिविद्यालयमेंपहलेसेपुस्तकालयथापरंतुनएपुस्तकालयमेंपहलेसेअधिककिताबेंऔरसुविधाएंदीगईहैं।कल्याणविद्यालयऔरआश्रमविद्यालयोंकोआधुनिकजरूरतोंकेहिसाबसेअपडेटकियाजारहाहैताकियहांकीछात्राएंकिसीसेपीछेनहींरहें।यदिकिसीछात्राकीकक्षाछूटजातीहैयाउसेविशिष्टज्ञानकीजरूरतहोतोवहपुस्तकालयकीमददलेसकतीहै।जरूरतकेअनुसारपुस्तकालयकेलिएऔरभीकिताबेंउपलब्धकराईजाएंगी।उन्होंनेकहाकिइसस्कूलकारिजल्टअच्छारहाहैपरन्तुउससेभीअच्छारिजल्टअगलेबारलानाहैजिसकेलिएछात्राओंकेसाथहीशिक्षकोंकोभीमेहनतकरनीहोगी।छात्राओंकोपढ़ाईकेबादरोजगारसेजोड़नेकेलिएयहांभीनर्सिगट्रेनिगस्कूलशुरूकियाजाएगा।छात्राएंयहांअपनेपरिवारऔरगांवसेअलगमाहौलमेंरहरहीहैं।वहजबभीगांवजाएंतोवहांकीछात्राओंकोभीअपनेअनुभवोंकेबारेमेंजरूरबताएं।मंचकासंचालनएसोसिएटएनसीसीआफिसरसुमितासिंहनेकिया।कार्यक्रममेंस्कूलकीशिक्षिकासुखमतीसोनार,रंजूकुमारी,रिकीठाकुर,नेहाकुमारी,सोनियाकुमारी,मरियम,संजीतामरांडी,मेरी,मृणालिनी,फरहाआफरीन,नीतिशकुमार,रजनीशकुमारसिंह,अनादिगोराई,बंटीकुमार,सुजाताझा,जहान्वीठाकुर,पुष्पलताआदिभीमौजूदथीं।