विश्व फलक पर चमक बिखेरने को सज रही धम्म भूमि, विश्वस्तरीय पर्यटन स्थल के रूप में विकसित कर रही सरकार

गोरखपुर,जागरणसंवाददाता।पूर्वांचलऔरविकासविषयकदैनिकजागरणकेकुशीनगरमेंहुएविमर्शकार्यक्रमकेदूसरेसत्रमें'धम्मभूमिपरविश्व',विषयपरहुईपरिचर्चामेंदुनियाकोशांतिवअहिंसाकासंदेशदेनेवालीबुद्धस्थलीकेवर्तमानऔरभविष्यकेविकासकोलेकरसंभावनाओंकीतलाशकीगई।इसतलाशकोपूराकरनेकोराहदिखानेकाकार्यभीहुआ।इसमेंसरकार,जनप्रतिनिधिवआमआदमीकीभूमिकाकोलेकरभीबातउठी।यहबातछनकरआईकिबीतेकुछदिनोंमेंयहांअनेकबड़ीविकासयोजनाओंकोआकारमिलाहै,जिससेधम्मभूमि(कुशीनगर)विश्वफलकपरचमकबिखरनेकोसजतीदिखरहीहै।

इंटरनेशनलएयरपोर्टकीमिलीसौगात

इंटरनेशनलएयरपोर्टकीसौगातमिलीहै।बावजूदइसकेअंतरराष्ट्रीयपर्यटकस्थलीकेरूपमेंदुनियाकेक्षितिजपरलानेकोअभीकईअहमकदमतयकरनेबाकीभीहैं।चर्चामेंभागलेतेहुएसांसदकुमारविजयदूबेनेकहाकिकुशीनगरकाजोधार्मिकवऐतिहासिकमहत्वहै,उसकेअनुरूपपहचाननहींमिलसकीथी।यहभगवानबुद्धकीमहापरिनिर्वाणस्थलीहै।विश्वकेलगभग50सेअधिकदेशोंमेंबौद्धधर्मकेअनुयायीआतेहैं।वायुवरेलसेवाकीसुविधानहींहोनेकेकारणसैलानियोंकीसंख्याकमरहीहै।

पीएम,सीएमनेदीइंटरनेशनलएयरपोर्टकीसौगात

प्रधानमंत्रीनरेन्द्रमोदीवमुख्यमंत्रीयोगीआदित्यनाथनेविश्वपटलपरकुशीनगरकानामऔरमजबूतीसेस्थापितकरनेकोकुशीनगरइंटरनेशनलएयरपोर्टकीसौगातदीहै।निरस्तहोचुकीमैत्रेयपरियोजनाकीलगभग200एकड़भूमिखालीहै।बौद्धपरिपथमेंकुशीनगरकोऔरआगेलेजानेकेलिएइसभूमिपरअनेकसंभावनाएंखड़ीहैं।

स्‍थानीयलेागोंकोमिलेगारोजगार

संचालकविवेकानंदमिश्रद्वाराकुशीनगरपर्यटनविकासकेलिएलागूवर्ल्‍डबैंककीप्रोपूअरटूरिज्मडेवलपमेंटप्रोजेक्टकेअबतकमूर्तरूपनहींलेनेकेसवालपरकहाकिइसपरकार्यवाहीचलरहीहै।इससेपर्यटनकातेजविकासहोगा।स्थानीयलोगोंकोरोजगारमिलेगा।पर्यटनविकासकेलिएबुद्धकीऊंचीप्रतिमासहितअन्ययोजनाओंकोलागूकरानेकीबातकही।

बौद्धसंग्रहालयस्‍थापितकरनेकीहुईहैशुरुआत

डा.अजयशाहीकेदुर्घटनाक्षेत्रसेसंबंधितप्रश्नपरसांसदनेकहाकिकुशीनगरऔरगोपालगढ़तिराहेपरफ्लाईओवरकानिर्माणकार्यकुछदिनोंमेंहीप्रारंभहोनेजारहाहै।कसाडाचौककेनिकटकुछमाहमेंहीट्रामासेंटरकाभीनिर्माणशुरूहोजाएगा।शिक्षकसुमितत्रिपाठीकेप्रश्नकुशीनगरमेंवैश्विकबाजारवराजकीयबौद्धसंग्रहालयमेंकुशीनगरकीपुरासामग्रियोंकोक्योंनहींलाएगयापरकहाकियहसबकुछहोगा।शुरुआतहोगईहै।

पीएमकेबुद्धिस्‍टकान्‍क्‍लेवकराएजानेसेलोकप्रियहुआकुशीनगरकानाम

कुशीनगरभिक्षुसंघकेअध्यक्षएबीज्ञानेश्वरनेकहाकिकुशीनगरकाअपेक्षितविकासनहींहोसकाहै।सन1876कीपुरातात्विकखोदाईकेबादभिक्षुमहावीरवभिक्षुचंद्रमणिनेकुशीनगरकेविकासमेंमहत्वपूर्णभूमिकानिभाईहै।प्रधानमंत्रीनरेन्द्रमोदीद्वारायहांबुद्धिस्टकान्क्लेवकराएजानेसेविश्वमेंकुशीनगरकानामऔरलोकप्रियहुआहै।कुशीनगरकेमहापरिनिर्वाणबुद्धमंदिरमेंभगवानबुद्धकीप्राचीनप्रतिमाहै।भारतीयपुरातत्वसर्वेक्षणकोइसेखंडहरनलिखकर,मंदिरलिखनाचाहिए।

सारनाथवबोधगयासेअधिकमहत्‍वपूर्णहैकुशीनगर

एकसवालकेजवाबमेंकहाकिसारनाथवबोधगयासेअधिकमहत्वपूर्णहैकुशीनगर।दुनियाकेबौद्धश्रद्धालुइसेमहातीर्थमानतेहै।महंथअवेद्यनाथपीजीकालेजमहराजगंजकेपूर्वप्राचार्यडा.परशुरामगुप्तनेमहराजगंजकेभगवानबुद्धसेसंबंधिततीनप्रमुखस्थलों-देवदह,रामग्रामस्तूपवकुंवरवतीस्तूपकीविस्तारसेचर्चाकी।इसकीमहत्ताकोरेखांकितकरतेहुएबतायाकिदेवदहभगवानबुद्धकीननिहालथी।इसेवर्तमानमेंवनरसियाकलाकेरूपमेंचिन्हितकियागयाहै।

रामग्रमस्‍तूपसेभगवानबुद्धकाधातुअवशेषनहींलेजासकेथेसम्राटअशोक

रामग्रामस्तूपएकमात्रस्तूपहैजिससेसम्राटअशोकएकमात्रभगवानबुद्धकाधातुअवशेषनहींलेजासकाथा।वहांदसएकड़क्षेत्रमेंखंडहरहै।यदिइसकाउत्खननकराकरविकसितकियाजायतोयहभीएकमहत्वपूर्णपर्यटनस्थलबनजाएगा।सरकारकोइसओरभीध्यानदेनाहोगा।एबीज्ञानेश्वरकोविज्ञापनप्रबंधकरमेशयादव,सांसदविजयकुमारदूबेकोविश्वदीपकत्रिपाठीऔरडा.परशुरामगुप्तकोरजनीशत्रिपाठीनेअंगवस्त्रदेकरसम्मानितकिया।