वित्तविहीन विद्यालय दाखिले में नहीं कर पाएंगे मनमानी

वित्तविहीनविद्यालयदाखिलेमेंनहींकरपाएंगेमनमानी

जागरणसंवाददाता,बांदा:दाखिलेकोलेकरअबवित्तविहीनविद्यालयोंकीमनमानीनहींचलेगी।जिसविद्यालयकोजिसविषयकीमान्यतामिलीहोगीविद्यालयउन्हींविषयोंमेंछात्रोंकादाखिलालेसकेंगे।सभीविद्यालयोंकोवालपेंटिंगकेजरिएविद्यालयकेमान्यताकावर्षऔरविषयोंकानामअंकितकरनाहोगा।यदिविद्यालयछात्रोंकोगुमराहकरमान्यतासेइतरकिसीभीविषयमेंछात्रोंकादाखिलालेतेहैंतोउनकेखिलाफकार्रवाईकीजाएगी।

जिलेमेंकुल169माध्यमिकविद्यालयहैं।इसमेंसेपचासराजकीय,तीसवित्तपोषितव89वित्तविहीनविद्यालयहैं।हरविद्यालयोंमेंअलग-अलगविषयोंकीमान्यताहै।साइंसकेविद्यालयोंकीसंख्याकाफीकमहै।जबकिअन्यविषयोंकीमान्यताविद्यालयोंनेअपने-अपनेहिसाबसेलेरखाहै।कुछविद्यालयऐसेमेंजोविषयकीमान्यतानहींहोनेपरभीछात्रोंकोदाखिलालेकरउनसेवसूलीकरतेहैं।जबकिउनकादाखिलाकिसीदूसरेविद्यालयमेंकरादेतेहैं,जहांउसविषयकीमान्यतारहतीहै।शासननेविद्यालयोंकीमनमानीपरअंकुशलगानेकेलिएनिर्देशजारीकियाहै।शासनकेआदेशकाअनुपालननहींकरानेपरविद्यालयोंकेखिलाफकार्रवाईकीजाएगी।विभागकेअधिकारियोंकीमानेमाध्यमिकस्तरसंचालितविद्यालयोंमेंअधिकांशकीमान्यताहै।बिनामान्यतास्कूलकोसंचालनकीअनुमतिनहींदीजाएगी।जिलाविद्यालयनिरीक्षकविनोदसिंहनेबतायाकिशासनकेनिर्देशकासख्तीकेसाथपालनकियाजाएगा।अगरकोईविद्यालयविषयकीमान्यताकेइतरदाखिलाकरताहै,तोसख्तकार्रवाईकीजाएगी।