व्यक्तित्व विकास में एनएसएस की अहम भूमिका

व्यक्तित्वविकासमेंएनएसएसकीअहमभूमिका

संवादसहयोगी,सरिया(गिरिडीह):सरियाकालेजसेवायोजनाइकाईदोकीओरसेसंचालितविशेषशिविरमेंविश्वविद्यालयकेएनएसएसकीसमन्वयकडा.जानीरूफीनातिर्कीनेभागलिया।सर्वप्रथमराष्ट्रीयसेवायोजनाकालक्ष्यगीतगाकरकार्यक्रमकाविधिवतउद्घाटनकियागया।तिर्कीनेकहाकिराष्ट्रीयसेवायोजनाव्यक्तित्वकेविकासमेंसराहनीयकार्यकरतीहै।स्वयंसेवकोंकोराष्ट्रीयस्तरपरपहचानदिलानेकेलिएयहएकअच्छाप्लेटफार्महै।बिनावाभावेविश्वविद्यालयकेस्वयंसेवकइसपरखरेउतररहेहैं।उन्होंनेमहिलाआत्मसुरक्षाकोलेकरकईजानकारियांदी।कहाकिमहिलाएंअबकिसीभीमायनेमेंपुरुषोंसेपीछेनहींहैं।सिर्फहमेंअपनेआत्मविश्वासकोबनाएरखनाहै।

सरियाकालेजकेस्वयंसेवकोंकेकार्योंकीउन्होंनेप्रशंसाकी।प्राचार्यडा.संतोषकुमारलालनेकहाकिस्वयंसेवकसमाजकेलिएनिशुल्कश्रमदेकरअपनीमानवताकेधर्मकोप्रदर्शितकररहेहैंजोसराहनीयहै।प्रो.अरुणकुमारनेकहाकिआजछात्रछात्राओंनेयोगाकार्यक्रममेंभागलियातथायोगाकाहमारेजीवनमेंक्यामहत्वहैउसकेबारेमेंप्रशिक्षककोलेश्वरप्रसादनेविस्तारसेबताया।स्वयंसेवकोंनेबिरहोरकालोनीस्थितविद्यालयमेंबच्चोंकोपढ़ायातथाबिरहोरबच्चोंकानहलानेकाकार्यक्रमभीकियागया।कार्यक्रमकासंचालनवधन्यवादज्ञापनकार्यक्रमपदाधिकारीप्रो.अरुणकुमारनेकिया।इसमौकेपरसमाजसेवीलखनमेहता,शुभमप्रियांशु,आकाशमंडल,ज्योतिकुमारी,पूनमकुमारी,शिल्पीकुमारी,शीतलकुमारी,रियाकुमारी,वर्षाकुमारी,गायत्रीकुमारी,रोजीआफरीन,उमेशकुमारयादव,रोशनी,खुशी,करिश्मा,संध्या,काजल,शिल्पीसमेतकईस्वयंसेवकउपस्थितथे।