railway recruitment chandigarh 2019

शिकायत मिलने के बाद मामले की जांच कराई गई, जिसमें ये बात सच पाई गई, जिसके बाद तत्कालीन डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने तत्कालीन बीडीओ और तत्कालीन बीसी को उक्त मामले में अपना पक्ष रखने का निर्देश दिया था. बीसी की ओर से अपने पक्ष में दिए मनत्व में भूलवष गलती हो जाने की बात कही गई थी. इसके बाद जिला लोक शिकायत के द्वितीय अपील में शौचालय भुगतान में लापरवाही बरतने को लेकर 29 मई, 2017 को बीसी शशांक कुमार को पदमुक्त करने के साथ ही, कुल निकासी की 75 प्रतिशत राशि यानि  2 लाख 19 हजार रुपये जमा करने का निर्देश दिया गया था.