स्वइन फ्लू क इलज पतंजल

कोडरमा: कोडरमा वन विभाग द्वारा गत 21 दिसंबर को माइका लदा वाहन व बाइक जब्त करने के मामले में विभाग के कार्यशैली पर सवाल उठ गया है। इस मामले में विभाग द्वारा हिरासत में लिये गये अभियुक्त को 12 घंटे बाद छोड़ दिया गया, वह भी तब जब जेल भेजने की प्रक्रिया अपनायी जा रही थी। बताया जाता है कि माइका लदे संबंधित वाहन को विभाग ने अवैध बताकर 21 दिसंबर की सुबह जब्त किया। जब्त वाहन के साथ सपही निवासी एक व्यक्ति को भी हिरासत में लिया था। इस दौरान दिनभर पैरवी का दौर भी चलता रहा। वहीं हिरासत में लिये गये व्यक्ति को जेल भेजने के लिए वन विभाग कार्यालय से 12 घंटे बाद सदर अस्पताल मेडिकल जांच के लिए भी लाया गया। लेकिन बाद में अचानक विभाग कार्रवाई से पीछे हट गया और अभियुक्त को जेल भेजने के बजाय छोड़ दिया। मामले में संबंधित आरोपी के विरूद्ध प्राथमिकी भी दर्ज की गई है। जबकि जब्त 407 वाहन को कार्यालय परिसर में ही रखा गया है। वन प्रमंडल पदाधिकारी सूरज कुमार ने अभियुक्त को छोड़ने के संबंध में कहा कि आरोपी को वन विभाग अधिनियम के तहत पीआर बांड पर छोड़ा गया है। जब भी न्यायालय को जरूरत पड़ेगी आरोपी को उपस्थिति कराया जाएगा। वहीं उन्होंने मामले में किसी तरह की राजनीतिक दवाब से इंकार किया।

मुजफ्फरपुर में बर्ड फ्लू को लेकर अलर्ट, फिलहा

पहले मलेरिया का इलाज और बाद में हुई स्वाइन फ्

बेलहर में दो जगहों पाए गए मृत कौए, जांच के लि

राजस्थान के सभी जिलों में होगी स्वाइन फ्लू की

बस्ती में मृत मिला कौआ, जांच के लिए भेजा सैंप

कोरोना सैंपल देने के लिए फ्लू वार्ड में उमड़ी

अलर्ट; बागबाहरा के तालाब में मरा हुआ बगुला मि

स्वाइन फ्लू जांच की देनी होगी पैथोलॉजी को सूच

बर्ड फ्लू को लेकर जिले में अलर्ट, रैपिड टीम ग

कौए में बर्ड फ्लू के पॉजिटिव मिलने से मचा हड़क

रोहतक में बर्ड फ्लू को लेकर बढ़ाई सतर्कता, मु

दिल्ली के चिड़ियाघर में एक बार फिर बर्ड फ्लू

क्या स्पैनिश फ्लू की होगी वापसी? कोरोना वायरस

बर्ड फ्लू: केंद्रीय मंत्री बोले- न फैलाएं अफव