मंगल भवन अमंगल हर द्रवहु सुदसरथ अजर बहर चपई

यही नहीं कभी कभार देर होने के कारण भेजे गए नमूने खराब हो जाते थे। इसके बाद जांच टीमों को पुन:जाकर नमूने लेने पड़ते थे। इस परेशानी को देखते हुए जिला संयुक्त चिकित्सालय में 10.57 लाख रुपये की लागत से बायोसेफ्टी लैब-2 बनाया जा रहा है। यहां एक बार में 200 नमूने की आरटीपीसीआर जांच हो सकेगी जिसकी रिपोर्ट तुरंत मिल जाएगी। दिन भर में कई शिफ्टों में जांच की जाएगी। कोरोना संक्रमितों की आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट दिन भर में मिलने से जांच की रफ्तार में तेजी आएगी। इससे जिले में संक्रमण की स्थिति का पता आसानी से लगाया जा सकेगा। बायोसेफ्टी लैब निर्माण के लिए मिले 5.27 लाख

गांव हरीऐ वाला में विकास कार्य शुरू

शिक्षण के साथ खेल में विद्या मंदिर श्रेष्ठ

सांस फूलने वाले रोगियों की होगी टीबी जांच

पुलिस ने जांच का भरोसा देकर लोगों को लौटाया

Positive India: कोरोना में फेफड़ों के जांच के

मधुबनी के जिला स्तरीय खेल प्रतियोगिता के लिए

एक माह से नहीं बना मिड-डे-मील

लखनऊ में शिक्षा विभाग के अधिकारियों के रहमो-क

गैंगस्टर विकास दुबे से पहले UP के ये 3 माफिया

ट्रेन से भारी मात्रा में देसी और विदेशी शराब

धर्मशाला में वर्चुअल टिकट संग्रहक प्रदर्शनी

शराब कांड का आरोपित गिरफ्तार

EXCLUSIVE: शमी पर लगे 'हसीन आरोपों' पर बीसीसी

नगर विकास मंत्री को भाजपा नेताओं ने गिनाईं शह

पुरातन छात्र समागम में विचारों का आदान-प्रदान

बिना टेस्टिग गुणवत्ता को हरी झंडी

वित्तीय अनियमितता के आरोप में ग्राम विकास अधि

केवि डांगोवापोसी में चार को लॉटरी के माध्यम स

बिना हेलमेट वाहन चालकों के विरूद्ध चला अभियान

Cabinet decision: सपा शासन की नियुक्तियों की