ननज देशमुख कृष संजवन यजन च महत

अयोध्या : राममंदिर निर्माण और रामनगरी के पर्यटन विकास की संभावनाओं के बीच बंदरों के भी पुनर्वास की जरूरत महसूस की जा रही है। बंदर युगों से रामनगरी की पहचान के रूप में जुड़े रहे हैं और उन्हें बजरंगबली का प्रतीक भी माना जाता है। संभवत: यही कारण है कि उदंड होने के बावजूद रामनगरी में उन्हें सहज स्वीकृति मिली रही। हालांकि वे रामनगरी की जिस वन संपदा के अनुकूलन में रहते थे, वह निरंतर सिकुड़ रही है। आज जब राम मंदिर निर्माण की उल्टी गिनती शुरू होने के साथ संपूर्ण रामनगरी के विकास के लिए हजारों एकड़ भूमि अधिग्रहण की तैयारी चल रही है, तब यहां की वन संपदा और तेजी से सिकुड़ने की आशंका है। ऐसे में बंदरों के लिए आश्रय का संकट खड़ा हो रहा है।

Maharashtra: अनिल देशमुख बोले, मेरे खिलाफ आरो

100 Crore Recovery Case: अनिल देशमुख ने अपने

Anil Deshmukh Case: रामदास अठावले बोले, उद्धव

अनिल देशमुख 6 नवंबर तक ED हिरासत में, भड़की श

Money Laundering Case: अनिल देशमुख को ED का स

Money Laundering Case: 13 घंटे की पूछताछ के ब

Jammu Kashmir: महाराष्ट्र के गृहमंत्री के खिल

Maharashtra: अनिल देशमुख से सीबीआइ की पूछताछ

महाराष्ट्र सरकार, अनिल देशमुख सीबीआई जांच के

अदालत ने प्रारंभिक जांच लीक मामले में देशमुख

Param Bir Singh Case: हाई कोर्ट ने देशमुख के

Anil Deshmukh Case: अनिल देशमुख को बचाने के ल

Anil Deshmukh: चांदीवाल कमीशन में सचिन वाझे क

CBI आज महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल दे

Maharashtra: सीबीआइ ने बॉम्बे हाईकोर्ट में कह

अनिल देशमुख के वकील और CBI इंस्‍पेक्‍टर समेत